close

इंडिया में कैसे मनाई जाती है दीपावली ?2021 in hindi

इंडिया का सबसे बड़ा त्यौहार दीपावली आओ देखते है

इंडिया में कैसे मनाई जाती है दीपावली ?

हेल्लो दोस्तों में पुनीत और आज एक और फेक्ट ले के आ गया हु क्या आप को पता है की इंडिया का सबसे बड़ा फेस्टिवल आ चूका है आप समझ गए होंगे की में किस के बारे  में बात कर रहा हु जी हां में दीपावली  की ही बात कर रहा हु दोस्तों आज हम एक ऐसी देश की बात कर रहे है

जो दुनिया में फेस्टिवल का देश के नाम से जाना जाता है और तो अपनी संस्किरीति और रीतिरिवाज से जाना जाता है  दीपावली का उत्सव पांच दिनो तक चलने वाला सबसे बड़ा पर्व होता है दशहरेके बाद से ही घरो में दिवाली की तैयारी जोरो शोरो से शुरू हो जाती है  और इस दिन भगवन श्री राम , माता सीता और लक्ष्मण जी चौदह वर्ष का बनवास पूरा कर के अयोधया  लोटे थे।

कैसे मनाई जाती है दीपावली ?

श्री राम जी के अयोधया आने की खुसी में ही दीपावली मनाई जाती है और तो और दिवाली दुनिया भार में भी मनाई जाती है हमारी संस्कार और हमारे रीतिरिवाज दुनिया भर में फैलता जा रहा है जो की भोत खुसी की बात है और कुछ और भी कथाएं प्रचलित है

दिवाली का त्यौहार हिंदूओ के प्रमुख त्यौहारों में से एक है। दिपावली को दीप का त्यौहार भी कहा जाता है। दिवाली इसलिए मनायी जाती है क्योंकि इस दिन भगवान श्री राम 14 साल का वनवास काटकर अयोध्या लौटे थे। भगवान श्री राम के वापिस अयोध्या लौटने की खुशी में वहां के लोगों ने इस दिन को दीवाली के रूप में मनाया जाने लगा है और अब ये दुनिया के लगभग अधिक देशो में बड़ी धूम धाम से मनाया जाता है

इंडिया का बच्चे से बड़े  तक इस दिन अपने घरो में पूजा करते है इस दिन लक्मी माता और गणेश जी और सरस्वती जी की पूजा की जाती है

और सभी के घर में दिया जलाया जाता है हिन्दू से मुस्लिम तक ये दिन बड़ी धूम धाम से मानते है हिन्दुओ के प्रमुख  त्यौहार होली , रक्षाबंधन और बहुत से  त्यौहार है पर सबसे बड़ा  त्यौहार दीपावली है ये दिन आते ही सबके दिल नाचने लगता है

READ ALSO :- Sardar Patel Statue Of Unity | Statue Of Unity cost, height, tickets, budget more

दीपावली का उत्सव ?

दीपावली की पूजा हम बात कर रहे है की पूजा कैसे की जाती है दीपवाली आने से पहले सभी के घर में लिपिइ पोताई होने लगती है घर और मंदिर का सजावट की जाती है और जिस दिन दिवाली होती है उस दिन घर के सभी बड़े सदस्येपूजा की तयारी में लग जाते है दीपवाली के सुबह अवसर पर नए कपडे पहनते है और माता लक्मी गणेश जी और सरस्वती जी की पूजा करते है ध्यान लगते है और आप को बता दू की दीपावली की पूजा सबसे बड़ी पूजा होने के नाते ये कई कई घंटो तक आरम्भ रहती है पूजा समाप्त होने के बाद उतसव शुरू किया जाता है सभी के घर पर दिया जलाया जाता है मोबाति लड़िया से घर की पूजा कर के घर और सदस्यो के साथ मुँह मीठा किया जाता है आस पड़ोस के घर पर मिठाइयां भेजी जाती है सभी गले मिल कर दीपावली मानते है  कैसे  होती है ?

दीपावली पर लक्मी पूजन करने की परम्परा एवं पूजा का महत्व ?

 
दीपावली के संध्या में अपने घर के पूर्व दिशा में धन की देवी लक्मी तथा गणेश की प्रतिमा स्थपित कर विधिवत पूजा अरचना पाठ करने से सभी परेशानिया दूर होती है व्यक्ति को धन और यस की प्राप्ति होती है

धनतेरस का महत्व ?

समुन्द्र मंथन के समय कार्तिक मास के त्रियोदास तिथि को भगवन अमृत कलस लेकर प्रकट होए थे इस वजह से कार्तिक के 13 दिन धनतेरस
की परम्परा निभाई जाती है इस दिवस पर लोग बहुत अधिक खरीदारी करते है नई गाड़िया विभिन प्रकार की वस्तु घर में ले के आया जाता है और इस दिन सोना चांदी भी खरीदार किया जाता है इस दिन सोना और चांदी शुभ माना जाता है

भारत के विभिनन स्थान पर दीपावली मानाने की वजह 

भारत के विभिन्न राज्यों में दीपावली की अलग अलग वजह है उन में से कुछ प्रमुख निनलिखितहै जो इस प्रकार है :-
* भारत के पूर्व भाग  में  बसा उड़ीसा बंगल इस दिन माता शक्ति महाशक्ति काली रूप धारण करने के वजह से मानते है और लक्मी के उपासन की वजह काली की उपवास करते है
भारत के उत्तरी भाग  में पंजाब के लिए दीपावली बहुत महत्व रखता है किउकी 1577 में इसी दिवस उप अमृतसर में शोवन मंदिर की नीव राखी थी
भारत में बहुत सी वजह है दीपावली का उतसव बढ़ाने का लोग अलग अलग प्रकार की वजह  से दिवाली मानते है और तो आपको ये भी
बता दी की इंडिया के अलावा और भी कई देश दिवाली को मानते है जो निनलिखित है :-

विदेशो में दिवाली का उत्सव

* नेपाल – भारत के अलावा भारत के पड़ोसी  देश नेपाल भी दीपावली का उत्सव बड़ी धूम धाम से मनाया जाता है  इस दिन नेपाल के कुत्ते
की पूजा एवं सम्मनित किया जाता है और इस दिन नेपाली लोग दोस्त रिस्तेदार के घर जाया करते है
*मलेशिया – मलेशिया में हिन्दुओं की संख्या जयदा होने की वजह मलेशिया में सरकारी छुट्टी दिया जाता है और तो लोग अपने घर में पार्टी
आयोजित किया जाता है और दीपवाली के पवन अवसर पर धूम धाम से मनाया जाता है
*श्री लंका – इस द्वीप पर रहने वाले लोग दीपावली वाले दिन तेल से स्नान (नहाया ) करते है और पूजा के लिए सुबह मंदिर जाते है और तो इस
दिन लोग लोग क्प्म्पीटीशन खेल कूद का आयोजन करते है और दीपावली का मजा एवं मनाया करते है
*इंडोनेशिया – इण्डोनेसिा में हिन्दू लोग भी दीपावली वाले दिन सुबह उठ कर मंदिर जाते है और इंडोनेशिया में बलि नमक जगह में मंदिर के पास पूजा का आयोजन किया जाता है बता दे आपको इंडोनेशिया में अधिक सखिया में हिन्दू की संख्या रहती है और भी इसी तरह के बड़े देश
है जो हिन्दू धर्म का प्रचलन होता जा रहा है लोग भारत के तरफ आता जा रहा है

मुख्य सूचना –

आप सभी को पता है की दीपावली की बात चल रही है और पटाको का जिक्र नहीं किया दोस्तों आज कल हम सब को पता है की पटके
हमरे देश और कई बेजुबान जानवर के लिए खतरनाक है  पटके की आवाज़ जयादा होने की वजह से कोई जानवर घातक रूप से मर जाते है
और बड़े बुजुर्ग और गंभीर बीमारी से पीडिता मरीज भी धुवीनि से परेशानिया का सामना करते है इसके साथ ही हमने देखा है दीपावली के बाद दूसरे दिन प्रदूषण बहुत हो जाता है इस समस्या को हम सॉल्व कर सकते है पटके ना जला कर। आप खुश रहे और दीपावली की हार्दिक शुभ कामना …..

Leave a Comment

Protein क्या है? और आपको इसकी आवश्यकता क्यों है हाई प्रोटीन वेजीटेरियन फूड्स जानें गर्मियों में बेल का ज्यूस पीने के फायदे प्रोटीन से भरपूर पौष्टिक खाना बेल का शरबत पीने के फायदे