समृध्द एवं सुरक्षित भविष्य की राह पर भारत में कृषि और किसान ?समृध्द किसान समृध्द भारत ?

 समृध्द एवं सुरक्षित भविष्य की राह पर भारत में कृषि और किसान 



कृषि को कौशल बनाने के लिए किये गए प्रयास ?

(1) कृषि अधोसंचलन विकास फंड में भारत देश में सबसे आगे अधोसंचलन विकास के लिए आत्मनिर्भर कृषि मिशन का गठन। 

(2) प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि में पात्र किसानो को केंद्र सरकार दुवरा प्रतिवर्ष मिलाने वाली 6 हज़ार रूपये की राशि पर भारत सरकार दुवरा दो किस्तों में प्रतिवर्ष 4 हज़ार रूपये की अतिरिक्त सहयता किसानो को अब प्रतिवर्ष 10 हज़ार रूपये की  सहयत। 

(3) प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि के पात्र किसानो को केंद्र सरकार दुवरा 5348 करोड़ रूपये तथा भारत सरकार दुवरा 3500 करोड़ रूपये की राशि का भुगतान। 

(4) प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना के तहत वर्ष 2018 – 19 में 18.46 लाख किसानो को 3228 करोड़  एवं वर्ष2019 -20    में 23.59 लाख किसानो को 5418 करोड़ रूपये दवा राशि का भुगतान। 

(5) लॉक डाउन की कठिन स्थितियो के बावजूद उपजार्न के कुल 50 दिनों  में लगभग 16 लाख किसानो से 1 करोड़ 29 लाख मीट्रिक टन गेहू का उपाजर्न मध्ये प्रदेश भारत का सबसे अधिक गेहू उपाजर्न  करने वाला राज्य  है। 

(6) उपाजर्न कार्यमें मध्ये प्रदेश के किसानो के खाते में 27 करोड़ रुपये से अधिक की राशि अंतरित। 

(7)  शून्य बियाज दर पर योजना का वर्ष 2019 -20 के लिए क्रियान्वन वर्ष 2020 – 21 में भी दिये जाने का निर्णय। 

(8) उद्योगिक फसल बीमा के लिए 100 करोड़ रूपये की राशि। 

(9) शून्य बियाज दर पर योजना का वर्ष 2019 -20 के लिए क्रियान्वन वर्ष 2020 – 21 में भी दिये जाने का निर्णय। 

(10) उद्योगिक फसल बीमा के लिए 100 करोड़ रूपये की राशि। 

(11) मंडी नियमो में आवश्यक परिवर्तन।  मंडी टैक्स में कमी जैसे महत्त्वपूर्ण निर्णय।  किसानो को उनकी उपज का बेहतर दाम दिलाना सुनिचित। 

(12) सहकारी बैंको की वित्तीय स्थिति को सुधारने के लिए 800 करोड़ रूपये जारी। 

(13) मनरेगा अंतगर्त ग्रामीण जगह में जल संरक्षण वाटरवॉड प्रबंधन सिचाई ,वनीकरण , भूमि विकास,एवं सुधार ,आजीविका गतिविधिया के लिए शोड निर्माण ,पशुपालन ,मछली पालन ,जैसे कार्य बड़े पैमाने पर प्रारभ।  10 लाख 26 हज़ार से अधिक कार्यो पर 2 हज़ार 7 सो करोड़ रूपये से अधिक का व्यय। 

(14) पिछले 8 महीने में लगभग 8 हज़ार करोड़ से अधिक की 7 सिचाई परियोजना को स्वीकृति। 

(15) एक जिला एक उत्पाद योजना लागु एक्सपर्ट आधरित क्लस्टर बनाकर अन्तराष्ट्रए बाजार में मध्ये प्रदेश के कृषिको को सशक्त बनाने के प्रयास। 

(16) कृषि को अधिक वयापक और लाभप्रद बनाने के लिए जैव प्रोरोधोगिक। रिमोट ,सेंसिग ,जी आईआर ,डाटा ,एनालिसिस, आर्टिफिशियल ,इटैलिजेसन,टेक्नोलोग्य और रोबोटिक जैसे नै तकनीकों का कृषि में उपयोग। इन्फॉर्मेशन टेक्नोलोग्य तथा मोबाइल बेस्ट एप्लीकेशन के साथ किसानो के लिए उपयोगी सूचना तंत्र के विकास को बढ़ना है। 

पिछले तीन वर्ष में किय जाने वाले प्रयास ?



(1) फसली को उत्पादकता में विर्धि तथा विविधीकरण। 

(2) कृषि में जोखिम प्रबंधन हेतु नवीन तथा उन्नत तकनीक के कृषि जगह में उपयोग को प्रोत्साहित करना। 

(3) कृषि आदिसंचलन का विकास ताकि घरेलु एवं विदेशी उपभोक्ता हेतु उत्पादन एवं कुशल वितरण तंत्र को सहयक मिले। 

(4) प्रमादिक जैविक कृषि उत्पादन में बढ़ोतरी। 

(5) एक राष्ट्र एक बाजार के का लक्ष्ये को प्राप्त करने के लिए कृषि विवधन क़ानूनी में सुधा। 

(6) कृषि को उधानिक उत्पादनो का मूल्य सवर्धन। 

(7) पशुपालन का विकास। 

(8) ग्रामो में डायरी व्यवसायक का विकास। 

(9) अतिरिक्त रोजगार हेतु मत्यस्य पालन एवं रेशम पालन विकास। 

भारत सरकार दुवरा कई बड़े काम किया गया है परन्तु वह सफल नहीं हो पाया है अभी भी जैसे हम जानते है की किसान आंदोलन हो रहा है भारत बंद भी करवा दिया है किसानो ने परन्तु कोई हल नहीं निकला 9 दिसम्बर को फिर से किसान की मीटिंग है अब कृषि मंत्री दुवरा बतया गया है की 9 दिसम्बर को हल जरूर निकलेगा अब तो मीटिंग होने के बाद पता चलेगा की किसान आंदोलन की रहा कहा तक पहुँचती है सरकार झुकती है या किसान हम आपको किसान से ले कर सभी तरह का खबर आपको दी जा रही है अगर आपको हमरा काम अच्छा लगा तो हमे फॉलो और कम्मेंट करे ताकि हम अपना काम अच्छा के करे आपको सारी खबर बता सके। 

Leave a Comment

x