close

एग्री इफा सेस लगाने से महगा हुआ पाव भार तेल जाने और क्या हुआ आखिर मेहेंगा आम लोगो के लिए नहीं रखा बैकअप प्लान क्या यही है बजट ?

 एग्री इफा सेस लगाने से महगा हुआ पाव भार तेल जाने और क्या हुआ आखिर मेहेंगा आम लोगो के लिए नहीं रखा बैकअप प्लान क्या यही है बजट ?

नई दिल्ली में Monday को हुए बजट में कई तरह के ऐसे निर्णय लिए गए जो बिलकुल हैरान कर देने वाला है बल्कि जब बिल पास हुआ तो हम सब यही देख रहे थे की आम लोगो के लिए तो कुछ खास सोच ही नहीं गया और बिल में सभी तरह की कहने वाली चीजों में विर्धि ही हुई है तो जानते है और जल्द ही उपभोक्ता को पाव भार तेल के लिए ज्यादा कीमत देनी होगी वित्तय मंत्री ने बजट में 17.5% कृषि अवसंचालन और विकास उपकार लगाने को ऐलान किया है उद्योग जगत के अधिकारियो का कहना है की इसका असर पाम तेल की  कीमतों पर देखेगा। 

फार्च्यून ब्रांड से खाद्य तेलों की बिक्री करने वाली कंपनी अदानी विल्मर के उप मुखिये क्रयकरी  अधिकारी अंगशु मल्लिक ने कहा पाव आयल की कीमत में 3.50 रूपए प्रति लीटर की तत्करलीन विर्धि होगी जो की उपभोक्ताओं को देनी होगी 

हालकि सोयाबीन और सूरजमुखी की कीमतों में कोई बदलाव नहीं होगा किउकी कुल शुल्क में कोई बदलाव नहीं हुआ है भारत में हर साल 2 करोड़ 35 लाख क्योकिंग आयल खपत होता है भारत में हर साल वनस्पति तेलों का आयात करता है इसमें से 60 फीसदी इंडोनेशिया और मलेशिया  से आयात किया जाता है। 

भारतीय वनस्पतियो तेल उत्पादन संघ के सुधाकर देसाई ने कहा है की अप्रैल से अब तक खुदरा में पाम आयल की कीमत 40 – 45 रूपए प्रति लीटर से बढ़कर 100 रूपए प्रति लीटर तक पहुंच गयी है 3 -4 रूपए की और विर्धि बहुत बड़ी नहीं होगी देसाई ने कहा अन्तराष्ट्रए बाजार आज बंद है और कंपनीयो का मूल्य के बारे में अनु अनुमान लगने से पहले वैश्विक कीमत की प्रवृति को देखना होगा।  

Leave a Comment

Protein क्या है? और आपको इसकी आवश्यकता क्यों है हाई प्रोटीन वेजीटेरियन फूड्स जानें गर्मियों में बेल का ज्यूस पीने के फायदे प्रोटीन से भरपूर पौष्टिक खाना बेल का शरबत पीने के फायदे