दिल्ली के बाद अब झारखण्ड में लगया गया लॉक डाउन फिर से 2019 वाली हालत जताई? झारखण्ड में कब तक लगया गया लॉक डाउन जाने ?

झारखंड में कोरोना वायरस के मामले बहुत तेजी से बढ़ रहा है इसके चलते झारखण्ड में लोखड़ौन लगया गया है आज सुबह ही यहाँ फैसला लिया गया है दिल्ली में सोमवार को मामले के चलते लॉक डाउन लगया था वही आज झारखंड में भी मंगलवार को आज सुबह से यहाँ लॉक डाउन को जारी किया गया है

झारखंड में बढ़ते कोरोनावायरस COVID-19 मामलों के बीच, राज्य सरकार ने मंगलवार (20 अप्रैल) को 22 अप्रैल से 29 अप्रैल तक कुछ छूट के साथ तालाबंदी की घोषणा की।co-win vaccine covid-19 How to register on CoWin portal, (Aarogya Setu app ) how to book appointment
हल्की कुछ जगह और सरकारी जगह पर भी इसका प्रभाव पड़ेगा और तो कुछ जगह को छूट दिया गया है है जैसे हॉस्पिटल में केमिस्ट शॉप और भी जो जरूरतमंद जगह पर पुलिस का कण्ट्रोल रहेगा।

झारखंड सरकार ने आवश्यक सेवाओं की अनुमति दी है। हालांकि धार्मिक स्थल खुले रहेंगे लेकिन भक्तों के जमावड़े की अनुमति नहीं है। खनन, कृषि और निर्माण गतिविधियों की अनुमति दी गई है।

सोमवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोनोवायरस के प्रसार को रोकने के लिए 26 अप्रैल को सुबह 10 बजे से शुरू होकर 26 अप्रैल को राष्ट्रीय राजधानी में छह दिनों के तालाबंदी की घोषणा की थी। और वही कई राज्यों से भी कुछ खबर आ रही है की कई राज्यों में लॉक डाउन लगने की आवशयकता है कोरोना वायरस के मामले अचनाक से ही अपनी रफ़्तार पकड़ी है

और पुरे भारत के कुछ अचे सहर में लॉक डाउन तक लगया गया है अब देखना बाकि है की लॉक डाउन से कुछ फर्क पड़ता है की नहीं किउकी दिल्ली को वीकेंड कर्फ्यू के बावजूद मामले काम नहीं नज़र आये बल्कि मामलो में रफ़्तार देखने को मिली है इसी वजह से दिल्ली में लॉक डाउन का फैसला लिया गया

हल्की जैसे पता चला रहा है की कई राज्यों में ऑक्सीजन स्लेंडर की कमी बताई गयी है और सर्कार ने यहाँ दवा भी किया है की यहाँ जल्दी से जल्दी उपाए कराया जायेगा।International Space station live fact

इस बीच, पिछले 24 घंटों में भारत में कुल 2.59 लाख नए मामले दर्ज किए गए, जो कुल मिलाकर 1.53 करोड़ हो गए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के नवीनतम आंकड़ों से पता चलता है कि देश भर में 24 घंटे में 1,761 नई मौतें हुईं। 1,716 नए लोगों में झारखंड के 46 लोग शामिल हैं।

एक अलग विकास में, सर्वोच्च न्यायालय ने मंगलवार को COVID-19 मामलों में वृद्धि के बीच उत्तर प्रदेश के पांच शहरों में तालाबंदी के इलाहाबाद उच्च न्यायालय के आदेश पर रोक लगा दी है और यहाँ मामलों के मध्ये नज़र रख कर कई राज्यों में लॉक डाउन की प्रक्रिया लगयी गयी है

हल्की किसी को नहीं पता की यहाँ वाला कोरोना कब ख़तम होगा पर यहाँ जरूर कहा जा सकता है की इस बार पहले से बुरा हल होने वाला है सरकार भी अभी एक्शन में है इसी वजह से सरकार हल कदम उठने में डरनहीं रही है क्या खुला रहेगा और क्या बंद रहेगा? | दिल्ली के मुख्यमंत्री ने बताया की दिल्ली में हालत ख़राब ?

Leave a Comment

x